डीबीटी (DBT) योजना क्या है कोरोना वायरस संकट में DBT Scheme से होने वाले फायदे

करोना एक वैश्विक महामारी है जिस से पूरा विश्व लड़ रहा है| भारत में इसका प्रकोप धीरे-धीरे बढ़ रहा है| कोरोना वायरस संकट के कारण देश में लगाए गए लॉकडाउन को देखते हुए भारत के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 26 मार्च 2020 को विशेष आर्थिक पैकेज का एलान किया. जैसे की मनरेगा के तहत काम करने वाले मज़दूरों के वेतन बढ़ना , किसान सम्मान निधि योजना तहत किसानों के अकाउंट में 6000, 2000 रुपये की किस्तों में हर महीने डाला जाएगा | ये सभी पैकजों को DBT योजना के माध्यम से लाभार्थी को फ़ायदा पहुंचाया जायेगा | 

DBT योजना क्या है

DBT (डीबीटी) भारत सरकार का एक नया तंत्र है जिसके द्वारा भारत सरकार लोगों के बैंक खातों में सीधे धनराशि जमा करवाती है।  इससे ये आशा की जा रही है भारत सरकार की सभी स्कीम का सीधा फायदा लाभार्थी को मिले अथवा बैंक खातों में सब्सिडी जमा करने से लीकेज, देरी, आदि कमियाँ को दूर किया जायेगा | डीबीटी को प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण भी कहा जाता है |   

डीबीटी की फुल फॉर्म (DBT Full Form)

DBT को अंग्रेजी में “Direct Benefit Transfer” कहाँ जाता है तथा हिंदी में इसका मतलब “प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण” होता है | इस सुविधा से लाभार्थी के अकाउंट में सीधे पैसे ट्रांसफर किये जाते है| 

DBT आवश्यक दस्तावेज़  (DBT Documents Required):

  • आधार कार्ड, पैन कार्ड
  • कास्ट प्रमाण पत्र (जाति प्रमाण)
  • आधार कार्ड में लिंक मोबाइल नंबर (रजिस्ट्रेशन के समय रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP भेजा जा सके )
  • बैंक खाता विवरण खाता संख्या आईएफएससी कोड इत्यादि ।

डीबीटी पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करे

डीबीटी (DBT) पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण के लिए सर्वप्रथम DBT की आधिकारिक वेबसाइट पर जाये|

  • अब ‘पंजीकरण’ ऑप्शन पर क्लिक करे |
  • अब ‘नए पंजीकरण’ ऑप्शन पर क्लिक करे |
  • अब मांगे गए निर्देशों का पालन करे |
  • अब रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी करने के लिए सब्मिट ऑप्शन पर क्लिक करे |

कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट में DBT scheme से होने वाले फायदे 

  • 1.70 लाख करोड़ रुपये के इस पैकेज का एलान करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि ग़रीबों के लिए खाने का इंतज़ाम करने के लिए (डीबीटी (DBT) के माध्यम से पैसे भी ट्रांसफ़र किए जाएंगे.
  • 130 करोड़ लोगों का पेट भरने वाले किसानों के लिए किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों के खाते में 2000 रुपये की किश्त हर महीने डाली जाएगी | 8.70 लाख किसानों के खाते में अप्रैल के पहले हफ़्ते में ही पहली किश्त ट्रांसफर कर दी गई है | अब तक किसानों को सालाना 6 हजार रुपये दिया जाते है |
  • ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा योजन (manrega yojna) के तहत जो लोग अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं उनके लिए मज़दूरी 182 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये कर दी गई है. इससे उनकी मासिक आय में क़रीब 2000 रुपये की वृद्धि होगी |
  • 20 करोड़ महिला के जनधन खातों में अगले तीन महीने तक 500-500 रुपये डाले जाएंगे.
  • मनरेगा की तरह ही विधवाओं, वृद्धों और दिव्यांगों के लिए अतिरिक्त 1000 रुपये पेंशन के तौर पर दिए जाएंगे. जोकि दो अलग-अलग किश्तों में लाभार्थी के सीधे बैंक खातों में जाएगा ताकि किसी भी तरह से कोई उनका हक न मार सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *